Showing posts with label News In India. Show all posts
Showing posts with label News In India. Show all posts

कोरोना पर पंजाब सरकार का बड़ा ऐलान, 30 अप्रैल तक बढ़ा कर्फ्यू

पूरे देश में आपको पता ही है इन दिनों सम्पूर्ण लॉकडाउन और सीलिंग की वजह से कैद है. इसके बावजूद का कहर रोके नहीं रुक रहा. देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 65 सौ से ज्यादा हो गई है। 206 लोगो की अब तक मौत हो चुकी है।
Lockdown date increase in punjab
गुरुवार को दिल्ली में कोरोना के 51 नए केस आने के बाद 720 हो गई है, जिसमे 430 मरकज से जुड़े है. ऐसे में और लोगो को अब 20 दिन और घर में ही रहना होगा। मुख्यमंत्री Captain Amrinder singh ने मंत्रिमंडल की बैठक में यही फैसला लिया है। साथ ही इसका सख्ती से पालन करने के निर्देश भी दिए।
मुख्यमंत्री ने कहा है प्रदेश में लॉकडाउन अभी जारी रहेगा।
यह भी पढ़े।
1- दिमाग हिला देने वाले 20 Interesting Facts  Click here
2- कनाडा के में 20 Interesting Fact क्लिक Click here 

लॉकडाउन हटाने की रणनिति में जुटी भाजपा सरकार, यह हो सकती है प्रक्रिया

कोरोनावायरस की वजह से पूरे देश में 25 मार्च से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन`लगा हुआ है। अगर केंद्र सरकार के आंकड़ों की मानो तो सरकार ने लॉकडाउन के कारण कोरोनावायरस से होने वालो से सक्रमण को पहले फेज में रोकने में कामयाब रही है। ऐसा माना जा रहा है। की लॉकडाउन पूरे देश से चरणबृद्ध  यानि अलग अलग फेज से हटाया जा सकता है। सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनोती ये है की 14 अप्रैल को लॉकडाउन ख़त्म हो जाता है, तो लोगो को निंयत्रित कैसे किया जाए इसके लिए जरूरी नीतिया बनानी होगी जैसे ही लॉकडाउन ख़त्म होगा लोग लाखो की तादार में घर से बाहर निकल कर सड़को पे आ जायेगे। 

lockdown ended after

इसे लेकर नरेंद्र मोदी जी ने ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कहा था की आप सभी अपने प्रदेशो में लॉकडाउन हटाया जा सके। इस पर अपने राज्यों  स्थिति के आधार पर रिपोर्ट तैयार करके केंद्र को भेजे। सूत्रों की मानो तो राज्यों द्वारा भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर और केंद्र मंत्रियो के स्टेट के Dm और SSP के Feedback के आधार पर केंद्र सरकार पर लॉकडाउनको हटाने की रणनीति तैयार करेगी। Central Government के के सूत्रों के हिसाब से लॉकडाउनको एक ही फेज में खोला जायेगा। लेकिन सभी राज्यों में कोरोना वायरस से ज्यादा प्रभावित जो इलाके है, वहा लॉकडाउन जारी रहेगा देश में जहा-जहा भी लॉकडाउन हटाया जायेगा वहा धारा 144 लगाई जाएगी ताकि 4 से ज्यादा लोग एक ही स्थान पे इकठे ना हो सके।

coronavirus

( Jalandhar Today Live News Click here )
लॉकडाउन खतम होने के बाद भी सभी अंतरराज्यीय  परिवहन प्रणाली को पूरी तरह से बंद रखा जायेगा, लेकिन कोई लॉकडाउन की वजह से किसी दूसरे State में फस गया हो, तो उसे परस्थिति के कारण पर ही अपने State वापस भेजा जायेगा, वो भी Corona Test होने के बाद। सभी प्रकार के Private यातायात माध्यम बंद रखे जायेगे, इसमें Bus Service,Taxi, Auto शामिल है, सिर्फ जरूरी सेवाओं को 30 अप्रैल तक बंद रखा जायेगा। हालत सुधरने पर चरणबृद्ध तरिके से सेवाएं शुरू हो जाएगी सभी राज्य सरकार अपने सरकारी सस्थानो और Private छेत्रो में काम करने वालो को रोस्टर के अनुसार काम करने का आदेश दे सकती है सभी राज्यों और सरकारों को इस सप्ताह के अंत तक लॉकडाउन हटाने पर अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज देगी, वे ये भी बतायेगे की उनकी सरकार की क्या रणनीति है। 

Jalandhar News in Hindi

Coronavirus in Punjab: पंजाब में कोरोना पीड़ितों की संख्या पहुंची 65, एक ही दिन नौ नए मामले आने की आशंका। 

Coronavirus in punjab


पंजाब में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। शनिवार को कोरोना पोस्टिव नौ और मामले सामने आने के बाद राज्य में इस घातक वायरस की चपेट में आने वाले की संख्या बढ़कर 66 हो गई है।  इनमे से अब-तक 5 लोगो की मौत हो चुकी है। जबकि सुकद खबर ये भी है की राज्य में अब-तक 3 मरीज़ ठीक होकर अपने घर जा चुके है।

शनिवार को सामने आए  नए मामले में से 3 Amritsar, 3 Mohali और एक-एक जालंधर, पठानकोट व फरीदकोट से है सेहत विभाग द्वारा जारी सुचना के अनुसार, राज्यों में अब-तक सामने आए 1824 संग्दित मरीजों के सैंपलों की जांच की जा चुकी है।, जिनमें से 1520 लोगो को जांच रिपोर्ट नेगटिव पाई गई है।
फ़िलहाल 239 लोगो की जांच रिपोट का इन्तजार है राज्य में अब-तक पोस्टिव लोगो में से 2 की हालत गंभीर और 2 अन्य की हालत अति गंभीर बताई गई।  सेहत विभाग के अनुसार, राज्य में अब-तक कोरोना पीड़िता के सबसे अधिक मामले नवा शहर में 19 और 14 पीड़ितों के साथ Mohali दूसरे नंबर पर है, हलाकि Mohali में 2 मरीज स्वस्थ होकर घर लोट गए है। 

देश में 15 मार्च के बाद बढ़ी कोरोना वायरस की स्पीड 13 दिन में 900 केस

देश में 15 मार्च के बाद पकड़ी कोरोना वायरस की स्पीड, 13 दिन में ही सामने आए 900 से ज्यादा केस 

कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुए 21 दिनों के लिए Lockdown घोषित किया गया है. इस से निपटने के लिए Center Government व राज्यों सरकारों की कोशिश जारी है. भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है. देश में कोरोना वायरस से 24 लोगो  गई है. वही महाराष्ट्र और केरल में तेजी से मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। 

Corona death image
Credit To Patrika 

देश में 15 मार्च तक करीब 100 मामले सामने आये थे लेकिन इसके बाद कोरोना ने स्पीड पकड़नी शुरू कर दी। और उसका ग्राफ हर  गुजरते दिन के हिसाब से बढ़ना स्टार्ट हो चूका है.  लेकिन  सरकार को भी तेज गति बढ़ने का अनुमान हो गया था, तभी सरकार ने पहले जनता कर्फ्यू लगवाया पर जब पता चला की कुछ बात ज्यादा बिगड़ गई और इस बीमारी ने एक Mahamari बीमारी का रूप धार लिया था  ही तेजी से फैल रहा था. इसी को मद्देनजर रखते हु माननीय प्रधान मंत्री नरिंदर मोदी जी ने तभी Lockdown करवाया था लेकिन Lockdown सबसे पहले शुरुआत Punjab से  हुई. 22 march को देशवासिओ ने घर में रहकर Pm  अपील को सफल भी बनाया। मतलब कोई भी घर से बाहर नहीं निकला। 

मजदूरों की पलयान बड़ी चुनौती:

Lockdon के बाद देश भर में मजदूरो का अपना-अपना घर के लिए पालयन बड़ी चुनौती बनकर सामने आया है. दिल्ली NCR का हाल बुरा है. जहा मजदूर रिक्शा चालक और फैक्ट्री Employee अपने-अपने घर की और लौटने के लिए हज़ारो की तदार में निकल पड़े है. लेकिन सिर्फ दिल्ली NCR ही नहीं बल्कि देश के दूसरे छोटे-बड़े शहरों से भी लोगो का पालयन शुरू हो चूका है.

मिडिल क्लास को लोन की EMI पर 3 महीने की छूट। मिलेंगे ये ऑप्शन

Coronavirus (COVID-19) Crisis: "Your Money Is Safe," RBI Assures ...
Credit to NDTV RBI Image 
लॉकडाउन की वजह से देश की इकोनॉमी मंद पड़ गई है. इस हालात का आम लोगों पर बोझ न पड़े, इसके लिए आरबीआई की ओर से कई बड़े ऐलान किए गए है. उदाहरण के लिए रेपो रेट में कटोती कर लोन और ईएमआई का बोझ कम करने की कोशिश की गई है. वहीं बैंकों को हर महीने लोन EMI देने वाले ग्राहकों को भी राहत के संकेत मिले है।दरअसल, आरबीआई ने बैंकों से लोन की ईएमआई दे रहे लोगों को 3 महीने तक के राहत की सलाह दी है. आसान भाषा में समझें तो अब गेंद बैंकों के पाले में है. बैंकों को अब तय करना है कि वो आम लोगों को ईएमआई पर छूट दे रहे है या नहीं.अगर बैंकों ने आरबीआई की सलाह को अमल में लाया तो three उम्मीद है कि अगले 3 महीने  तक आपको लोन की ईएमआई नहीं देनी पड़ेगी. लेकिन इसका मतलब ये नहीं हुआ कि इस अवधि की ईएमआई को माफ कर दिया जाएगा. जानकारों के मुताबिक बैंक 3 महीने  की अवधि खत्म होने के बाद वसूली करेंगे.ऐसे में सवाल है कि क्या तीन महीने  के बाद आम लोगों पर अचानक ईएमआई का अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा. इस सवाल के जवाब में फाइनेंशियल प्लानर तारेश भाटिया बताते है कि ऐसा नहीं होगा. ये संभव है कि बैंक आपकी मासिक किस्त को बढ़ा दें. इसके अलावा आपको टेन्योर के कुछ महीने  बढ़ाने का विकल्प भी मिल सकता है. वहीं, ग्राहकों के सामने बैंक एक खास डेडलाइन तक वन टाइम सेटलमेंट का विकल्प भी रख सकते है ये डेडलाइन  से  महीने  की हो सकती है. मतलब ये कि आपको एक खास समय तक एकमुश्त पेमेंट करना पड़ सकता है.बता दें कि अभी बैंकों को तय करना है कि वो कौन से लोन पर ईएमआई की छूट दे रहे है. मतलब ये कि रिटेल, कमर्शियल या अन्य तरह के लोन लेने वाले लोगों के लिए अब भी एक तरह का कन्फ्यूजन बना हुआ है.


हंता वायरस, 8 सवालों से समझिये इसके बचाओ, लक्षण और वजह

हता और कोरोना वायरस में फर्क क्या है..?


hta virus

WHO: कोरोना इंसान से इंसान में जबकि हता चूहे के मल मूत्र के जरिये फैलता है.

  • अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, हंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का वक्त लग सकता है
  • तेज बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द, पेट में दर्द, उल्टी, डायरिया जैसे लक्षण हंता के संक्रमण का इशारा करते हैं


हेल्थ डेस्क: दुनियाभर में कोरोनावायरस के खौफ के बीच एक और वायरस हंटावायरस से संक्रमण का मामला सामने आया है। चीन के ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट करके बताया कि युनान प्रांत में हंटावायरस की वजह से एक शख्स की मौत हो गई। शख्स सोमवार को शैंगडॉन्ग प्रांत से युनान आया था। डब्ल्यूएचओ ने हंतावायरस से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए हैं जानिए क्या है यह वायरस और कैसे यह संक्रमित करता है...

#Q-1) क्या है हंता वायरस और कैसे फैलता है?
अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (सीडीसी) के मुताबिक, यह ऐसे समूह का वायरस जो खासतौर पर चीजों को कुतरने वाले जीवों (रोडेंट्स) से फैलता है जैसे चूहे और गिलहरी। अमेरिका में इस वायरस को न्यू वर्ल्ड हंता वायरस और यूरोव व एशिया में ओल्ड वर्ल्ड हंता वायरस के नाम से जाना जाता है। यह हंता वायरस पल्मोनरी सिंड्रोम नाम की बीमारी की वजह है। हंता वायरस के कई प्रकार हैं जो रोडेंट्स की अलग-अलग प्रजातियों से फैलते हैं। वायरस के वाहक चूहे के यूरिन, मल और लार के संपर्क में आने पर इंसान संक्रमित हो जाते हैं।सीडीसी के मुताबिक, यह वायरस तीन तरह से फैलता है-
  • पहला: अगर वायरस का वाहक चूहा किसी इंसान को काट ले, हालांकि ऐसे मामले कम ही सामने आते हैं।
  • दूसरा: किसी जगह या चीज पर मौजूद चूहे का मल-मूत्र या लार के संपर्क में इंसान आता है और अपने नाक-मुंह को छूता है।
  • तीसरा: अगर इंसान ऐसी चीज खाता है जिस पर चूहे का मल-मूत्र या लार मौजूद हो।
#Q-2) कौन ज्यादा खतरनाक हंता वायरस या कोरोना?
वैज्ञानिकों के मुताबिक, हंता वायरस हवा के जरिए नहीं फैलता फिरभी कोरोना वायरस के मुकाबले ज्यादा खतरनाक है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, हंता वायरस भी जानलेवा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, दुनियाभर में कोरोना वायरस के कारण मौत का ग्लोबल रेट सटीक तरह से पता लगने में कुछ वक्त लग सकता है। फिलहाल इसे 3-4% के बीच माना जा रहा है। वहीं, फरवरी में जारी रिपोर्ट के मुताबिक नए कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित चीन में यह दर 3.8% थी जो अब 4% पार हो चुकी है। वहीं, अमेरिका में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस का डेथ रेट 1.2% है। यानि कि कोरोना वायरस के इन्फेक्शन होने पर बचने के Chance काफी  ज्यादा होते हैं
वैज्ञानिकों ने अब-तक हंतावायरस के 5 स्ट्रेन खोजे हैं, इनमें से सबसे ज्यादा खतरनाक अराराक्वॉरा वायरस है जिसका इन्फेक्शन होने पर डेथ रेट 54% पाया गया है। वहीं, एक दूसरा स्ट्रेन सिन नॉम्ब्रे वायरस है जिसके केस में डेथ रेट 5-10 के बिच है। तीसरा स्ट्रेन हतन वायरस होता है। जिसका डेथ रेट 5-10% के बीच है। इन तीनों में से किसी इन्फेक्शन पर मौत का खतरा कोरोना की तुलना में कहीं ज्यादा हो सकता है।

#Q-3) हंता वायरस कोरोना से कितना अलग है?
दोनों में एक बड़ा फर्क है कि कोरोना वायरस इंसान से इंसान में फैलता है जबकि हंता चूहों या गिलहरियों eight फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, यदि कोई व्‍यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, यह आमतौर पर इंसान से इंसान में नहीं लेकिन चिली और अर्जेंटीना में से दुर्लभ मामले सामने आए थे। जिसमें संक्रमित मरीज से दूसरे इंसान में फैलने की बात सामने आई थी। यह हंता वायरस का एक प्रकार एंडेस वायरस था।
#Q-4) कैसे संक्रमित करता है हंता वायरस ?
हंता वायरस व्यक्ति के चूहे या गिलहरी के संपर्क में इंसान के आने से  फैलता है। हंता वायरस मुख्य रूप से चूहों में होता  है। इस वायरस के कारण चूहों में कोई बीमारी नहीं होती, लेकिन इस वायरस के कारण इंसानों की मौत हो जाती है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, घर में चूहों की मौजूदगी इस वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ाती है।

#Q-5) कैसे पहचानें कि हंता वायरस से संक्रमित हैं? 
तेज बुखार, सिर दर्द, बदन दर्द, पेट में दर्द, उल्टी, डायरिया जैसे लक्षण संक्रमण का इशारा करते हैं। 4 से 10 दिन के अंदर संक्रमण की गंभीरता बढ़ती है और सांस लेने में तकलीफ होती है और फेफड़ो में पानी भरने लगता है।लक्षण बरकरार रहने पर मौत भी हो सकती  है। चीन में भी मौत से पहले ऐसे लक्षण  नजर आए थे। हंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ - दस दिन  का वक्त लग सकता है।
#Q-6) चूहे की कौन सी प्रजाति हंता वायरस का वाहक है?

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, चूहों की चार प्रजातियां ऐसी हैं जो हंता वायरस का वाहक हैं। इनमें सबसे अहम हैं अमेरिका में पाया जाने वाला डियर माउस। यह आम चूहों के मुकाबले थोड़ा छोटा होता है। इसके शरीर की लंबाई 2-3 इंच होती है। शरीर के मुकाबले इसकी आंख और कान बड़े होते हैं। साथ शरीर पर बाल अधिक होते हैं। अन्य तीन प्रजातियों में कॉटन रैट, राइस रैट और व्हाइट फूटेड माउस शामिल हैं।

#Q-7) किस तरह के इलाके में वायरस का खतरा अधिक?

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, के मुताबिक, ग्रामीण क्षेत्रों जहां पेड़-पौधे अधिक हैं वहां हंता वायरस के फैलने का खतरा अधिक होता है।
#Q-8) क्या इसकी कोई वैक्सीन है?
सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल के मुताबिक, अब तक इसकी वैक्सीन तैयार नहीं हो सकी है और न ही कोई तय इलाज है। ऐसे मरीजों को विशेष केयर की जरूरत होती है और ऑक्सीजन थैरेपी दी जाती है। जितनी जल्दी मामला पकड़ में आता है उतना ही बेहतर है।

कोरोना वायरस से इटली में क्यों हो रही पुरुषों की ज्यादा मौत? ये है वजह



कोरोना वायरस से इटली में क्यों हो रही पुरुषों की ज्यादा मौत? ये है वजह जान कर चौक जाओगे आप भी। 


Italy news in hindi
 Credit To Dailymail 


दुनिया भर में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं. इस वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले देशों में इटली है. इटली ने अब इस मामले में चीन को भी पीछे छोड़ दिया है. ताजा आंकड़ों के मुताबिक इटली में सिर्फ एक दिन में कोरोना से 627 लोगों की जान चली गई, जबकि संक्रमण के 5986 नए मामले सामने आए हैं.
इटली में अब तक कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या चार हजार से ऊपर पहुंच चुकी है. हालांकि गौर करने वाली बात ये है कि यहां मरने वालों में पुरुषों की संख्या ज्यादा है.
कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में कोरोना वायरस का खतरा उतना ही है जितना कि बुजुर्गों में. कुछ ऐसे ही आंकड़े कुछ दिनों पहले चीन में भी देखे गए थे जहां Covid-19 से पुरुषों की मौतें ज्यादा हो रही थीं.
इटली में भी महिलाओं की तुलना में कोरोना वायरस से ज्यादा संक्रमित और मरने वालों में पुरुष ही हैं. रोम के एक उच्च स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार कोरोना वायरस के 25,058 मामलों में 5 फीसदी महिला मरीजों की तुलना में 8 फीसदी पुरुष मरीजों की मौत हो गई.
वैज्ञानिक और जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर साबरा क्लेन ने कहा, 'पुरुषों में कोरोना वायरस खतरा उतना ही जितना बुजुर्गों में. लोगों को इसके प्रति जागरूक होने की जरूरत है कि क्योंकि यह एक पैटर्न की तरह चला आ रहा है.'
क्लेन ने कहा, लोगों में यह भिन्नता जैविक या व्यवहारिक हो सकती है. एक स्टडी के अनुसार पुरुषों की तुलना में महिलाओं का इम्यून सिस्टम ज्यादा मजबूत होता है. वहीं पुरुषों में धूम्रपान ज्यादा और हाथ कम धोने की आदत होती है.'
कोरोना वायरस पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिका के डॉक्टर डेबोरा बीरक्स ने बताया, इटली में मरने वाले हर उम्र के पुरुषों की संख्या महिलाओं की तुलना में दोगुनी थी. खास तौर से 50 से ज्यादा उम्र वाले पुरुष ज्यादा संक्रमित थे.
महिलाओं मे पाया जाने वाला सेक्स हार्मोन एस्ट्रोजन भी इम्यूनिटी को बनाए रखता है. X क्रोमोसोम को भी इम्यूनिटी जीन माना जाता है, जो कि महिलाओं में दो जबकि पुरुषों में सिर्फ एक होता है.
अमेरिका में जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी के निदेशक कैथरीन सैंडबर्ग का कहना है कि पुरुषों का स्वास्थ्य और व्यवहार भी इस मामले में एक अहम भूमिका निभाता है.सैंडबर्ग ने कहा, 'महिलाओं की तुलना में पुरुषों में बहुत कम उम्र में ही दिल संबंधी और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां हो जाती हैं और ये किसी भी गंभीर बीमारी की संभावना को और बढ़ा देती हैं.'


लॉकडाउन असफल पंजाब बना देश में सबसे पहले कर्फ्यू लगाने वाला राज्य

कोरोना संकट के बीच लॉकडाउन असफल: पंजाब बना देश में सबसे पहले कर्फ्यू लगाने वाला राज्य 

पंजाब के सीएम ने कहा यह समझने को तैयार ही नहीं है.की कोरोना वायरस रोकने  सोशल डिस्टैन्सिंग जरूरी है।  मुख्यमंत्री ने पूरे पंजाब में कर्फ्यू लगाने का आदेश जारी कर  दिए गए है, ऐसा करने वाला पंजाब पहला राज्य है.  

कोरोना के कहर से जूझ रहा पाकिस्तान, इमरान खान ने की लोगों से अपील

कोरोना के कहर से जूझ रहा पाकिस्तान, इमरान खान ने की लोगों से अपील




Image result for coronavirus pakistan
Credit To indiatv




दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है. पाकिस्तान में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. वहां संक्रमित केसों की संख्या 480 से ज्यादा हो गई है जबकि तीन लोगों की मौत हो गई है. इसी बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने लोगों से अपील की है. दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को लोगों से कम से कम 45 दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन के लिए अपील की है. पाकिस्तान में तीसरी मौत यहां के सबसे बड़े शहर कराची में हुई, जो दक्षिणी सिंध प्रांत की राजधानी है. इस प्रांत में ही कोरोनोवायरस के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं. प्रधानमंत्री खान ने इस्लामाबाद में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों को कोरोनोवायरस संकट से निपटने में मदद करने के लिए कम से कम 45 दिनों के लिए सेल्फ आइसोलेशन करना चाहिए.





Image result for coronavirus pakistan
Credit to newsindiaexpress


प्रकोप को रोकने के लिए भविष्य में कार्रवाई के बारे में टिप्पणी करते हुए इमरान ने कहा कि हमारी रणनीति पाकिस्तान की सामाजिक-आर्थिक वास्तविकताओं को देखते हुए, एक पूर्ण लॉकडाउन से थोड़ा अलग है. इसके अलावा इमरान ने अफगानिस्तान के साथ सीमा के एक उद्घाटन की घोषणा की, जिससे माध्यम से ट्रकों को विभिन्न आपूर्ति ले जाने में मदद मिलेगी. इमरान ने यह भी कहा कि COVID 19 की वैश्विक महामारी के बावजूद, हम अपने अफगान भाइयों और बहनों का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान इटली जैसा समृद्ध देश नहीं है, जहां लोग आर्थिक गतिविधि के बिना कुछ प्राप्त कर सकते हैं. सिंध के स्वास्थ्य मंत्री अजरा फजल ने 77 वर्षीय व्यक्ति की मौत की पुष्टि की है और कहा कि मरीज को कैंसर था लेकिन वे उसे बचे हुए थे. उन्हें उच्च रक्तचाप और मधुमेह जैसी अन्य चिकित्सा समस्याएं थीं, हालांकि उनकी कोई यात्रा या संपर्क इतिहास नहीं था. उधर प्रांतीय प्रवक्ता मुर्तजा वहाब ने कहा कि सिंध प्रांत में शुक्रवार को पुष्ट मामलों की संख्या बढ़कर 249 हो गई है. इससे पहले खैबर-पख्तूनख्वा में दो मरीजों की मौत हो गई थी, जहां सकारात्मक मामलों की संख्या 23 हो गई है. प्रांतीय स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता कैसर आसिफ द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार, पंजाब में कम से कम 16 और मामले सामने आए हैं. अधिक मामले बलूचिस्तान में सामने आए जहां संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 81 है.  एक अन्य 21 गिलगित-बाल्टिस्तान में, 10 इस्लामाबाद में और एक पीओके में है. उधर सूचना अधिकारी फिरदौस आवन ने बताया कि पाकिस्तान के वुहान शहर में फंसे छात्रों को 17 टन पका हुआ खाना भी भेजा गया है. उन्होंने बताया कि हम अपने नागरिकों की तरह वुहान में पाकिस्तानियों की देखभाल के लिए चीनी सरकार को धन्यवाद देते हैं.





Do Not Forget Like Comment & Share Also.







Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max

Redmi Note 9 Pro Max Overview:


Redmi Note 9 Pro Max 128GB स्मार्टफोन एंड्रॉइड v10 (Q) ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है। फोन ऑक्टा कोर (2.3 गीगाहर्ट्ज, डुअल कोर, क्रियो 465 + 1.8 गीगाहर्ट्ज, हेक्सा कोर, क्रियो 465) प्रोसेसर द्वारा संचालित है। यह क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 720G चिपसेट पर चलता है। इसमें 6 जीबी रैम और 128 जीबी इंटरनल स्टोरेज है।



Image result for xiaomi redmi note 9 pro max
Credit to mi.com


Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max 128GB स्मार्टफोन में IPS LCD डिस्प्ले है। इसका माप 165.7 मिमी x 76.6 मिमी x 8.8 मिमी और वजन 209 ग्राम है। स्क्रीन का रिज़ॉल्यूशन 1080 x 2400 पिक्सेल और 395 पीपीआई पिक्सेल घनत्व है। कैमरे के मोर्चे पर, खरीदारों को एक 32 एमपी प्राथमिक कैमरा मिलता है और पीछे की तरफ, 10 x डिजिटल ज़ूम, ऑटो फ्लैश, फेस डिटेक्शन, टच टू फोकस जैसी सुविधाओं के साथ 64 + 8 + 5 + 2 एमपी कैमरा होता है। यह 5020 एमएएच की बैटरी द्वारा समर्थित है। स्मार्टफोन में कनेक्टिविटी फीचर्स में वाईफाई, ब्लूटूथ, जीपीएस, वोल्ट, और बहुत कुछ शामिल हैं।

Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max Price In India:

भारत में Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max 128GB स्मार्टफोन की कीमत 16,999 रुपये होने की संभावना है। Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max 128GB को देश में 25 मार्च 2020 (उम्मीद) पर लॉन्च किए जाने की अटकलें हैं। रंग विकल्पों के लिए, Xiaomi Redmi Note 9 Pro Max 128GB स्मार्टफोन ऑरोरा ब्लू, ग्लेशियर व्हाइट, इंटरस्टेलर ब्लैक रंगों में आ सकता है।

Summary:

PerformanceSnapdragon 720G
Storage128 GB
Camera64+8+5+2 MP
Battery5020 mAh
Display6.67" (16.94 cm)
Ram6 GB
Launch Date In IndiaMarch 25, 2020 (Expected)

Key Specification:

Front Camera32 MP
Battery5020 mAh
ProcessorQualcomm Snapdragon 720G
Display6.67 inches
Ram6 GB
Rear Camera64 MP + 8 MP + 5 MP + 2 MP

Special Feature:

Other SensorsLight sensor, Proximity sensor, Accelerometer, Compass, Gyroscope
Fingerprint Sensor PositionSide
Fingerprint SensorYes

General:

Quick ChargingYes
Operating SystemAndroid v10 (Q)
Sim SlotsDual SIM, GSM+GSM
ModelRedmi Note 9 Pro Max 128GB
Launch DateMarch 25, 2020 (Expected)
Custom UiMIUI
BrandXiaomi
Sim SizeSIM1: Nano SIM2: Nano
Network4G: Available (supports Indian bands) 3G: Available, 2G: Available
Fingerprint SensorYes

Multimedia:

Audio Jack3.5 mm
LoudspeakerYes

Perfomance:

ChipsetQualcomm Snapdragon 720G
GraphicsAdreno 618
ProcessorOcta core (2.3 GHz, Dual core, Kryo 465 + 1.8 GHz, Hexa Core, Kryo 465)
Architecture64 bit
Ram6 GB

Desigen:

Width76.6 mm
Weight209 grams
WaterproofYes Splash proof
Thickness8.8 mm
Height165.7 mm
ColoursAurora blue , Glacier white, Interstellar black

Display:

Display TypeIPS LCD
Bezelless DisplayYes with punch-hole display
Pixel Density395 ppi
Screen ProtectionCorning Gorilla Glass v5
Screen To Body Ratio Calculated84.62 %
Screen Size6.67 inches (16.94 cm)
Screen Resolution1080 x 2400 pixels
Touch ScreenYes Capacitive Touchscreen, Multi-touch

Storage:

Internal Memory128 GB
Expandable MemoryYes Up to 256 GB

Camera:

Camera SetupSingle
SettingsExposure compensation, ISO control
Camera Features10 x Digital Zoom, Auto Flash, Face detection, Touch to focus
Image Resolution9000 x 7000 Pixels
SensorISO-CELL
AutofocusYes
Shooting ModesContinuos Shooting, High Dynamic Range mode (HDR)
Resolution32 MP Primary Camera
Physical ApertureF1.89
Optical Image StabilisationYes
FlashYes LED Flash
Video Recording3840x2160 @ 30 fps, 1920x1080 @ 30 fps, 1280x720 @ 30 fps

Battery:

User Replaceable  -No
Type                      -Li-Polymer
Quick Charging    -Yes Fast, 33W: 50 % in 30 minutes
Capacity                -5020 mah

Network:

WifiYes Wi-Fi 802.11, a/ac/b/g/n, MIMO
Wifi FeaturesMobile Hotspot
BluetoothYes v5.0
VolteYes
Usb TypecYes (Doesn`t support micro-USB)
Usb ConnectivityMass storage device, USB charging
Network Support4G (supports Indian bands), 3G, 2G
GpsYes with A-GPS, Glonass
Sim 14G Bands:TD-LTE 2300(band 40) / 2500(band 41) FD-LTE 2100(band 1) / 1800(band 3) / 900(band 8) / 850(band 5)3G Bands: UMTS 1900 / 2100 / 850 / 900 MHz2G Bands: GSM 1800 / 1900 / 850 / 900 MHz GPRS:Available EDGE:Available
Sim SizeSIM1: Nano, SIM2: Nano
Sim 24G Bands: TD-LTE 2300(band 40) / 2500(band 41) FD-LTE 2100(band 1) / 1800(band 3) / 900(band 8) / 850(band 5)3G Bands: UMTS 1900 / 2100 / 850 / 900 MHz 2G Bands: GSM 1800 / 1900 / 850 / 900 MHz GPRS:Available EDGE:Available

Overview Ended:    So In this post, so many friends hope that the information given by you to us will be very good.And if friends feel good, then please share our post and reach your friends.

Older Posts Home

Follow by Email

Subscribe Us

Facebook

 

Followers

 

Templates by Nano Yulianto | CSS3 by David Walsh | Powered by {N}Code & Blogger